देश-दुनिया के श्रद्धालुओं के लिए 26 अप्रैल को खोल दिए जाएंगे यमुनोत्री धाम के कपाट

विश्व प्रसिद्ध तीर्थधाम यमुनोत्री धाम के कपाट अक्षय तृतीया के मौके पर खोलने का मुहूर्त तय किया गया है। यमुना मां के मायके खरसाली गांव में यमुनोत्री धाम के कपाट 26 अप्रैल की दोपहर 12 बजकर 41 मिनट पर देश-दुनिया के श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। यमुनोत्री धाम के पुरोहितों ने यमुना जयंती के मौके पर यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने का मुहुर्त निकाला।

कर्क लग्न के अनुसार अभिजीत मुहुर्त पर 26 अप्रैल को धाम के कपाट खुलेंगे। गंगोत्री के कपाट यमुनोत्री धाम से छह मिनट पहले खुलेंगे और इसी के साथ इस साल की चारधाम यात्रा शुरू हो जाएगी। ऐसी मान्यता है कि चैत्र शुक्ल षष्ठी को मां यमुना जी पृथ्वी लोक पर अवतरित हुई थीं। इसलिए इस दिन को यमुना के मायके (शीतकालीन प्रवास) खरसाली में धूमधाम से यमुना जयंती उत्सव के रूप में मनाया जाता है।


पौराणिक परंपरा अनुसार सोमवार को सुबह से ही खरसाली में शीतकालीन पुजारियों एवं यमुनोत्री मंदिर समिति ने परंपरागत रीति रिवाज के साथ पूजा-अर्चना प्रारम्भ की। साथ ही उच्च हिमालयी क्षेत्र से लाई गई औषधीय वनस्पति जटामासी, केदारपाती, गुग्गल आदि को भी पूजन के लिए एकत्र किया। शीतकालीन प्रवास खरसाली में विराजमान यमुनाजी की भोग मूर्ति को पंचगव्य से स्नान कराकर उन्हें गाय के घी से बने पकवानों का भोग लगाया गया।

यमुना मंदिर समिति के सचिव कृतेश्वर उनियाल ने बताया कि यमुना जयंती पर यह अनुष्ठान पीढ़ियों से चला आ रहा है। हालांकि कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए सरकार द्वारा घोषित लॉक डाउन के कारण इस बार मां यमुना की जयंती पर उत्सव कार्यक्रम को सीमित रखा गया। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर ग्रीष्मकाल के लिए यमुनोत्री धाम की यात्रा के लिए कपाट खोलने का मुहूर्त भी निकाला गया है।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS