बीसीसीआई के भी ‘दादा’ बनने की खबर पर क्या बोले सौरव गांगुली

बीसीसीआई के भी ‘दादा’ बनने की खबर पर क्या बोले सौरव गांगुली

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली BCCI के नए प्रेजिडेंट बनाए जा सकते हैं. उम्मीद है कि 14 अक्टूबर को गांगुली अपना नामांकन दाखिल करेंगे. दादा अकेले कैंडिडेट हो सकते हैं. ऐसे में वह निर्विरोध चुने जा सकते हैं. BCCI प्रेजिडेंट पोस्ट की रेस में सौरव गांगुली और बृजेश पटेल का नाम सामने आ रहा था. अब माना जा रहा है कि दादा इसमें आगे हो गए हैं और वह नए प्रेजिडेंट बन सकते हैं. नाम न छापने की शर्त पर क्रिकेट एसोसिएशन के एक सूत्र ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई से कहा, हमने तय किया है कि गांगुली नए प्रेजिडेंट होंगे.

पूर्व भारतीय बल्लेबाज ब्रजेश पटेल जो कि कर्णाटक स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन और बीसीसीआई के कई पदों पर रहे हैं, आईपीएल के नए चेयरमैन हो सकते हैं. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह बीसीसीआई के सचिव और अनुराग ठाकुर के भाई अरुण सिंह ठाकुर कोषाध्यक्ष बनाए जा सकते हैं.


जय शाह और ब्रजेश पटेल.

गांगुली को पिछले महीने क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल (CAB) के प्रेजिडेंट के रूप में निर्विरोध चुना गया था. BCCI में दादा के जाने का मतलब होगा कि CAB को प्रेजिडेंट पोस्ट के लिए फिर से चुनाव कराने होंगे.

न्यूज़ एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए गांगुली ने कहा-

ऐसे वक्त में प्रेजिडेंट बन रहा हूं जब पिछले तीन साल से बोर्ड की स्थिति बहुत अच्छी नहीं है. इसकी छवि बहुत खराब हुई है. मेरे लिए यह अच्छा करने का सुनहरा मौका है. सबसे पहले हम सभी से बात करेंगे और फिर फैसले लेंगे. मेरे लिए सबसे बड़ी प्राथमिकता फर्स्ट क्लास के क्रिकेटर्स हैं. मैं तीन साल तक सीओए से अपील करता रहा लेकिन उन्होंने मेरी बातें नहीं सुनी. इसलिए सबसे पहला काम मैं यही करूंगा और फर्स्ट क्लास क्रिकेटरों की आर्थिक स्थिति सुधारने की कोशिश करूंगा.

यह पूछने पर कि यह कप्तानी से अलग होगा पर गांगुली ने कहा, भारतीय टीम का कप्तान होने से बढ़ कर कुछ नहीं है.

गांगुली का कार्यकाल एक साल से भी कम के लिए ही होगा क्योंकि नए नियमों के मुताबिक, अगले साल जुलाई के बाद वह ‘कूलिंग ऑफ पीरियड’ में चले जाएंगे. BCCI के नए संविधान के तहत कोई भी शख्स बोर्ड या राज्य संघों में 6 साल से ज्यादा लगातार नहीं रह सकता. गांगुली 2014 में CAB से जुड़े और 2015 से लगातार इसके अध्यक्ष हैं.

गांगुली ने 113 टेस्ट में 7212 और 311 वन-डे खेल 11363 रन बनाए. 2000 से 2005 तक टीम इंडिया के कप्तान रहे. मौजूदा वक्त में CAB के प्रेजिडेंट हैं.

जिसे भारत ने 21 सालों तक एक भी मैच नहीं खिलाया, उसे साउथ अफ्रीका ने कोच बना लिया है

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS