12वीं साइंस में 1-1 नंबर के होंगे 20 सवाल, बायो में 5 सेशन

12वीं साइंस में 1-1 नंबर के होंगे 20 सवाल, बायो में 5 सेशन

सीबीएसई ने नए बोर्ड परीक्षा पैटर्न पर आधारित 10वीं एवं 12वीं बोर्ड के सैंपल पेपर तथा मार्किंग स्कीम बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर जारी कर दी है. नए पैटर्न में प्रश्नों की संख्या, प्रश्नों के प्रकार में पुराने पैटर्न के बड़े परिवर्तन हैं. ऑब्जेक्टिव- एमसीक्यू, फिल इन द ब्लैंक्स, असर्शन-रीजन अाैर पैसेज बेस्ड प्रश्नों काे शामिल किया गया है. इस प्रकार के प्रश्न इंजीनियरिंग एवं मेडिकल एंट्रेंस में पूछे जाते हैं. इससे मेडिकल एवं इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी करने वाले स्टूडेंट्स के लिए उपयोगी होगा.

इधर, फिजिक्स एवं केमेस्ट्री के सैंपल प्रश्न पत्रों में कुल 37 प्रश्न पूछे हैं. गणित के प्रश्न पत्र में 36 प्रशन हैं. किंतु बायोलॉजी के प्रश्न पत्र में मात्र 27 प्रश्न पूछे हैं.
फिजिक्स, केमेस्ट्री व मैथ से भिन्न है बायोलॉजी का पैटर्न : बायोलॉजी के प्रश्न पत्र का पैटर्न फिजिक्स, केमेस्ट्री तथा मैथमेटिक्स के सापेक्ष काफी भिन्न है. फिजिक्स, केमेस्ट्री अाैर मैथमेटिक्स में संपूर्ण प्रश्न पत्र को 4 भागों में बांटा गया है जबकि बायोलॉजी के प्रश्न पत्र में कुल 5 भाग हैं. सेक्शन-ए में 5 ऑब्जेक्टिव-एमसीक्यू प्रश्न निर्धारित हैं जो कि फिजिक्स केमेस्ट्री तथा मैथमेटिक्स के सापेक्ष कम हैं. बायोलॉजी के प्रश्न पत्र के सेक्शन-डी में में केस आधारित प्रश्नों का समावेश किया गया है, जो कि अत्यंत महत्वपूर्ण हैं. केस आधारित यह प्रश्न एप्लीकेशन ऑफ कंसेप्ट्स पर आधारित होते हैैं.


दो साल से कम पैरामेडिकल कोर्सेज नाम में बदलाव, अब संशोधन जरूरी

प्रदेश में पूर्व में राज्य सरकार से मान्यता प्राप्त सरकारी अस्पताल, संस्थानों से दो साल से कम अवधि के पैरामेडिकल कोर्सेज के नाम में संशोधन किया है. डिप्लोमा इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी के स्थान पर मेडिकल लैब टेक्नीशियन, डिप्लोमा इन रेडिएशन टेक्नोलॉजी को मेडिकल रेडियोग्राफर टेक्नीशियन तथा डिप्लोमा इन ऑप्थेल्मिक टेक्नोलॉजी को मेडिकल आप्थेल्मिक टेक्नीशियन के नाम से जाने जाएंगे. पैरामेडिकल काउंसिल के रजिस्ट्रार सोमदत्त दीक्षित के अनुसार काउंसिल में अावेदन कर प्रमाण पत्र ले सकते है. पंजीकृत स्टूडेंट को पंजीयन प्रमाण पत्र में संशोधन करवाना अनिवार्य है.

बायोमेडिकल इंजीनियरिंग भी अब गेट में शामिल

गेट में 2020 में बायो इंजीनियरिंग को भी शामिल किया गया है. आईआईटी में एमटेक के लिए परीक्षा होती है. अगले साल यह परीक्षा आईआईटी दिल्ली की अोर से आयोजित की जाएगी. कुल 25 विषयों में यह परीक्षा होगी. एक से नौ फरवरी 2020 के बीच अलग अलग शिफ्ट में कुल 25 विषयों के पेपर होंगे. इसके लिए आवेदन जमा करवाने की समय सीमा एक अक्टूबर को ही पूरी हो गई है. तैयारियों के लिए बच्चों को करीब पांच महीने का समय मिलेगा.

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS