सब सोनिक क्रूज मिसाइल ‘निर्भय’ का सफल परीक्षण

सब सोनिक क्रूज मिसाइल ‘निर्भय’ का सफल परीक्षण

नई दिल्ली। पांच में से 2 परीक्षणों में नाकाम रहने के बाद,  भारत की सब सोनिक क्रूज मिसाइल ‘निर्भय’ ने सोमवार को अपना टारगेट सफलतापूर्वक भेद दिया।

इसके सेना में शामिल होने के रास्ते खुल गए हैं।


12 मार्च, 2013 को आयोजित ‘निर्भय’ की पहली उड़ान को बीच में ही समाप्त करना पड़ा था।

17 अक्टूबर 2014 को दूसरा लॉन्च सफल रहा।

16 अक्टूबर 2015 को  मिसाइल 128 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद अपने रास्ते से भटक गई।

21 दिसंबर, 2016 को आयोजित परीक्षण उड़ान को अपनी परीक्षण उड़ान के 700 सेकंड के बाद निरस्त करना पड़ा था।

2017 में मिसाइल प्रणाली का पांचवां प्रायोगिक परीक्षण सफलता के साथ किया गया था।

भारत का टॉमहॉक

DRDO के वैमानिकी विकास प्रतिष्ठान बेंगलुरु द्वारा विकसित निर्भय ऑटोपायलट और नेविगेशन तकनीकों का उपयोग करता है ।

वह ‘निशांत’ और ‘रुस्तम’ यूएवी  के लिए विकसित किया गया है।

निर्भय को भारत का टॉमहॉक मिसाइल माना जाता है।

‘निर्भय’ दो स्टेज वाली मिसाइल है जो 6 मीटर लंबी, 0.52 मीटर चौड़ी है।

इसका विंग्सस्पैन 2.7 मीटर लंबा है।

यह 0.6 -0.7 मैक की गति सेपरमाणु हथियारभी ले जा सकता है।

इसका प्रक्षेपण वजन लगभग 1500 किलोग्राम है।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS