थूक लगाकर फल बेचने वाले को किया गिरफ्तार, जेल भेजा

थूक लगाकर फल बेचने वाले को किया गिरफ्तार, जेल भेजा

थूक लगाकर फल बेचने का एक वीडियो शुक्रवार 3 अप्रैल को वायरल होने के बाद फल विक्रेता शेरू मियां को शनिवार 4 अप्रैल की सुबह पुलिस ने कोरोना टेस्ट कराए जाने के उपरांत पठारी उपजेल भेज दिया है. उनकी कोरोना जांच की रिपोर्ट सोमवार तक आएगी. वहीं शेरू की बेटी फिजा का कहना है कि उनके पिता की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है, एक पुराना वीडियो वायरल होने के बाद उसे कोरोना से जोड़ दिया गया अब उनके पिता और परिवार के लोग किसी का सामना तक नहीं कर पा रहे हैं.

गौरतलब है कि शेरू मियां का यह वीडियो सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ था और इसे 16 फरवरी को बनाकर सबसे पहले टिकटॉक पर लेने वाले दीपक नामदेव द्वारा शुक्रवार दोपहर को थाने में आवेदन देने पर पुलिस ने मामला जांच में लेकर प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया था और शेरू को विशेष न्यायालय में पेश किया था जहाँ से उसे जेल भेजे जाने के आदेश किए गए थे.


शाम हो जाने और कोरोना जांच शेष रहने के कारण शनिवार सुबह पुलिस ने पहले उसका टेस्ट करवाया और फिर पठारी उपजेल भेज दिया. इस मामले में कोतवाली टीआई जगदीश सिंह सिद्धू का कहना है कि मानसिक स्थिति से जुड़ी बात तो मेडिकल विशेषज्ञ ही स्पष्ट कर सकते हैं शेरू के खिलाफ जो कल शिकायत हुई थी उसकी जांच में यह वीडियो सही लेकिन अभी का न होकर 16 फरवरी का पाया गया जिससे भादवि की धारा 269-270 में प्रकरण पंजीबद्ध कर उन्हें न्यायालय में पेश किया था.

फल विक्रेता शेरू के इस वीडियो को पुलिस भी पुराना मान चुकी है. इसके सामने आने के बाद जांच और कार्रवाई के निर्देश एसपी ने दिए थे. इस मामले में एसपी मोनिका शुक्ला का कहना है कि शिकायत पर पुलिस ने जांच और कार्रवाई की है. मामला संज्ञान में आने के बाद दूसरे फल बेचने वालों पर भी नजर रखी जा रही है.

बेटी बोली- पिता की मानसिक स्थिति ठीक नहीं

रायसेन के गवोइपुरा में टीन वाली मस्जिद के पास रहने वाले 57 वर्षीय शेरू की बेटी फिजा का कहना है कि मेरे पिता की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है. अब्बू का एक पुराना वीडियो सामने आने के बाद असलियत समझने की किसी ने कोशिश ही नहीं की.

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS