इस्लामिक मुल्क इंडोनेशिया में जो कर गया गुरुकुल का छात्र सोमवीर वो बन गया इतिहास.. फिर से विश्वगुरु की दिशा में भारत

इस्लामिक मुल्क इंडोनेशिया में जो कर गया गुरुकुल का छात्र सोमवीर वो बन गया इतिहास.. फिर से विश्वगुरु की दिशा में भारत

गुरुकुल के छात्र सोमवीर ने ये काम उस इंडोनेशिया में कर दिखाया है जो दुनिया का सबसे बड़ा इस्लामिक मुल्क है. सोमवीर के इस कार्य से इस बात का साफ़ संकेत मिल रहा है कि भारत के कथित सेक्यूलर बुद्धिजीवी कुछ भी कहें लेकिन अब भारत दुनिया में नई महाशक्ति के रूप में उभर रहा है, भारत विश्वगुरु बनने की राह पर अग्रसर है जहाँ पूरी दुनिया महानतम भारतीय संस्कृति को स्वीकार करेगी.

खबर के मुताबिक़, हरिद्वार के गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय, हरिद्वार के छात्र रहे आचार्य सोमवीर इंडोनेशिया के बाली प्रांत की विधानसभा के सदस्य चुने गए हैं. रेवाड़ी (हरियाणा) के रहने वाले आचार्य सोमवीर पहले भारतीय हैं, जिन्हें यह गौरव हासिल हुआ है. आचार्य सोमवीर के बालसखा और उनके चुनाव में सक्रिय भूमिका निभा कर लौटे चेतन ज्योति आश्रम के महंत स्वामी ऋषिश्वरानंद महाराज ने बताया कि विगत अप्रैल माह में वहां विधानसभा का चुनाव हुआ था और आचार्य सोमवीर भारी बहुमत से जीते. विगत दो सितंबर को शपथ ग्रहण हुआ. शपथ ग्रहण समारोह में आचार्य सोमवीर ने पद एवं गोपनीयता की शपथ ली.


वहीं इस मुद्दे पर आचार्य सोमवीर का कहना है कि हरिद्वार से उनका गहरा लगाव है. वर्ष 1984 में उन्होंने गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय में विद्या विनोद की पढ़ाई की थी. इसके बाद वह 1995 में योगाचार्य बनने के लिए बाली पहुंच गए थे. वहां योग के क्षेत्र में काफी काम और नाम कमाने के बाद समाजसेवा से जुड़ गए. आचार्य सोमवीर ने बताया कि उनकी इच्छा इंडोनेशिया और भारत के बीच सांस्कृतिक संबंधों को बढ़ावा देने की है.

उन्होंने बताया कि खासतौर पर उत्तराखंड के आध्यात्म और सुरम्य पर्यटन स्थलों का इंडोनेशिया और बाली के भौगोलिक परिवेश से काफी तालमेल है. गंगा के प्रति बाली के लोगों में अगाध आस्था है। जल्दी ही बाली की पूरी कैबिनेट को हरिद्वार लाने की कार्ययोजना पर भी काम कर रहे हैं. स्वामी ऋषिश्वरानंद ने बताया कि जल्दी ही इस कार्य योजना को मूर्त रूप दिया जाएगा और हरिद्वार में हर की पैड़ी पर बाली की पूरी कैबिनेट तथा उनके साथ आने वाले श्रद्धालुओं का अभिनंदन किया जाएगा. उन्होंने कहा कि एक इस्लामिक मुल्क में हिन्दू आचार्य का विधायक बनना भारत की गौरवशाली सभ्यता तथा संस्कृति के विराट स्वरुप को दर्शाता है.

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS