SBI के ग्राहको को कल से लगने वाला है बड़ा झटका

SBI के ग्राहको को कल से लगने वाला है बड़ा झटका

अगर आपका बैंक खाता भारतीय स्टेट बैंक (SBI) में है तो कल से आपको लगने वाला बड़ा झटका. SBI के नए नियम से हर ग्राहक प्रभावित होंगे जिनके इस बैंक में सेविंग यानि बचत खाते हैं.
दरअसल बैंक के नए फैसले से करोड़ों ग्राहकों के बचत खाते में ग्रहण लगने वाला है. क्योंकि 1 मई से SBI ने अपने लोन और डिपॉजिट रेट को सीधे RBI के रेपो रेट से जोड़ने का फैसला कर लिया है. SBI देश का पहला ऐसा बैंक है, जिसने इस तरह का कदम उठाया है.
लेकिन SBI के इस कदम से सेविंग्स अकाउंट होल्डर्स पर सीधा असर पड़ेगा, उन्हें पहले के मुकाबले बचत खाते पर कम ब्याज मिलेगा. हालांकि अपने लोन और डिपॉजिट रेट को सीधे RBI के रेपो रेट से जोड़ने पर SBI के ग्राहकों को सस्ता लोन मिल सकता है.
दरअसल साफ शब्दों में कहें तो कल से SBI ग्राहकों को अपने सेविंग्स अकाउंट्स पर कम ब्याज मिलेगा. देश में करोड़ों ग्राहकों के SBI में सेविंग्स अकाउंट्स हैं और वो कल बैंक के इस फैसले से प्रभावति होंगे.
रेपो रेट से तय होगा ब्याज दर
मालूम हो कि अभी तक बैंक मार्जिनल कोस्ट ऑफ फंड बेस लेंडिंग रेट (MCLR) के आधार पर लोन का ब्याज दर तय किए जाते हैं. जिससे कई बार ऐसा होता था कि रेपो रेट में कटौती के बावजूद बैंक MCLR में कोई बदलाव नहीं करता था.
लेकिन अब जैसे ही RBI रेपो रेट में बदलाव करेगा उसका सीधा असर आपके सेविंग्स अकाउंट पर पड़ेगा. अगर बैंक का रेपो रेट कम होगा तो सेविंग्स अकाउंट पर ब्याज कम मिलेगा.
SBI के मुताबिक 1 मई से एक लाख रुपये से अधिक डिपॉजिट पर पहले से कम ब्याज मिलेगा, नए नियम से 1 लाख रुपये तक के डिपॉजिट पर 3.50 फीसदी ब्याज मिलेगा. जबकि 1 लाख रुपये से अधिक डिपॉजिट पर अब ब्याज दर 3.25 फीसदी रहेगा.
SBI लोन हो सकता है सस्ता
हालांकि SBI द्वारा अपने लोन रेट को RBI के रेपो रेट से जोड़ने पर ग्राहकों को लोन सस्ता मिल पाएगा. पहली मई से SBI से 30 लाख रुपये तक के लोन पर 0.10 फीसदी कम ब्याज देना पड़ेगा. बता दें, 30 लाख रुपये तक के लोन की ब्याज दर 8.60 से 8.90 फीसदी है. SBI ने अपनी MCLR भी 0.05 फीसदी कम कर दिया है.


Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS