कंसीलर का कौन सा कलर आपके स्किन में सेट होगा , जानने के लिए यहाँ पढ़े

कंसीलर का कौन सा कलर आपके स्किन में सेट होगा , जानने के लिए यहाँ पढ़े

जब चेहरे की रंगत को एक समान बनाने के लिए इस्तेमाल में आने वाला कंसीलर ही अलग-अलग रंगों में दिखाई दे रहा हो. क्या आप भी ऐसी ही दुविधा में फंस गई हैं? आपको समझ में नहीं आ रहा है कि इसका क्या करना है? लिपस्टिक की तरह आप कंसीलर के सबसे सुंदर शेड पर हाथ रख कर उससे अपने चहरे को कंसील करने की शुरुआत नहीं कर सकतीं. क्योंकि कंसीलर का हर रंग किसी विशेष तरह की त्वचा से जड़ी समस्या को छुपाने के लिए बनया गया है. क्या? आपको लग रहा है कि हमने आपको और ज़्यादा असमंजस में डाल दिया? बिल्कुल नहीं… इस बात को समझना बहुत आसान है. सचमुच!चिंता न करें यहां हम आपको कलर करेक्टिंग के नायाब टिप्स दे रहे हैं, जिनसे दुविधा से बाहर निकल आएंगी और आपका काम आसान भी हो जाएगा…

पीला:पीले यानी यलो कलर का करेक्टर बहुपयोगी होता है. यह चेहरे पर मौजूद हाइपरपिग्मेन्टेशन के बैंगनी और भूरे रंग के दाग़ों को को छुपाने का काम बख़ूबी करता है. यदि आप अपने चेहरे के बैंगनी-भूरे रंग के दागों को छुपाना चाहती हैं तो इसका इस्तेमाल करें. यह करेक्टर चेहरे की रंगत को निखार कर उसे खिला-खिला दिखाने में बेहद कारगर है.


नारंगी:यह कलर करेक्टर का सबसे प्रमुख शेड है और मेकअप में नया-नया हाथ आज़माने वाली यानी नौसिखिया युवतियां इस रंग के इस्तेमाल से दूरी बनाए रखना चाहती हैं. लेकिन सच्चाई तो यह है कि नारंगी यानी ऑरेंज कलर का करेक्टर गहरे से गहरे अंडर आइ सर्कल्स, गहरे दाग़-धब्बे और यहां तक कि टैटूज़ को भी बहुत प्रभावी ढंग से कवर करने में सक्षम होता है. आप गहरे दाग़-धब्बों पर ऑरेंज कलर करेक्टर का इस्तेमाल करने के बाद अपने सामान्य कंसीलर का इस्तेमाल करें और चेहरे पर एक समान रंगत पाएं.

हरा:हरा यानी ग्रीन कंसीलर आप तब इस्तेमाल करें, जब मुहांसे, एक्ज़ेमा, त्वचा में जलन या फिर सनबर्न हुआ हो. ऐसी चीज़ों के लाल रंग के दाग़-धब्बों और निशानों को छुपाने के लिए हरे रंग का यह करेक्टर (कंसीलर) चेहरे की लालिमा को न्यूट्रलाइज़ करने का काम करता है. यह दाग़-धब्बों को छुपाता है और हर तरह की रंगत यानी स्किन टोन के लिए अच्छा होता है. यदि आपको ये समस्याएं हैं तो फ़ाउंडेनश लगाने से पहले ग्रीन कंसीलर की पतली पर्त चेहरे पर लगाएं. इससे आपका चेहरा बेदाग़ नज़र आएगा

बैंगनी:यदिआप फीकी, निस्तेज और पीले रंग की त्वचा से परेशान हैं तो बैंगनी यानी पर्पल कलर करेक्टर को अपना नया और सच्चा दोस्त बना लीजिए. यह शेड हर तरह की स्किन टोन की रंगत को सुधार कर उसे मिनटों में चमकीला, आभावान और खिला-खिला बना देता है.

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS