परिवार की सुख समृद्धि के लिए घर की छत पर लगाएं ध्वज

हिंदू धर्म में पूजा पाठ और व्रत उपवास का विशेष महत्व बताया गया हैं वही धार्मिक रूप से घर की छत पर ध्वज लगाने को शुभ और असरदायक माना जाता हैं यह ध्वज कई कारणों से भी लगाया जाता हैं ज्योतिष के मुताकि ध्वज लगाने के कारण और उनके लाभ अलग अलग हो सकते हैं

वही सनातन संस्कृति की धरोहर का सांस्कृतिक दूत हैं आदि काल से वैदिक संस्कृति, सनातन संस्कृति, हिंदूसंस्कृति, आर्य संस्कृति, भारतीय संस्कृति एक दूसरे के पर्याय हैं जिसमें सभी मांगलिक कार्यों के प्रांरभ करते समय उत्सवों में, पर्वों में, घरों मंदिरों देवालयों वृक्षों, रथों वाहनों पर भगवा ध्वज या केसरिया पताकाएं फहराई जाती हैं।


आपको बता दें कि भगवान ध्वज में तीन तत्व ध्वजा, पताका और डंडा जिन्हें ईश्वरीय स्वरूप माना जाता हैं जो आधिभौतिक, आध्यात्मिक, आधिदैविक हैं। यह ध्वजा परम पुरुषार्थ को प्राप्त कराती हैं। सभी तरह से रक्षा करती हैं कभी कभी मनुष्य के जीवन में ऐसी स्थिति आ जाती हैं जिससे आर्थिक समस्याओं और दुर्भाग्य से दो चार होना पड़ता हैं जिसके तरह मनुष्य कंगाली की हद तक आ जाता हैं यही स्थिति कुण्डली में राहू केतू शनि और मंगल के कारण आती हैं।

जानिए कैसा होना चाहिए ध्वज—
बता दें कि स्वास्तिक या ॐ लगा हुआ केसरिया ध्वज होना चाहिए। वैसे तो दो प्रकार का ध्वज होता हैं एक त्रिभुजाकार और दूसरा दो त्रिभुजाकार ध्वज। दोनों में से कोई एक तरह का ध्वज लगा सकते हैं।वही ध्वजा को विजय और सकारात्मकता का प्रतीक माना जाता हैं इससे यश, कीर्ति और विजय मिलती हैं।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS