नई दिल्ली :एगॉन लाइफ इंश्योरेंस ने सातवें वार्षिक एगॉन सेवानिवृत्ति तत्परता सर्वेक्षण 2018 जारी किया है

इसके मुताबिक सर्वेक्षण में शामिल 15 देशों के बीच सेवानिवृत्ति की तैयारी में भारत अग्रणी है।


एगॉन सेवानिवृत्ति तत्परता सूचकांक (एआरआरआई) में 7.3 से अधिक अंक प्राप्त करने वाला भारत एकमात्र देश है।

इस रिपोर्ट में श्रमिकों की सेवानिवृत्ति की तत्परता का मूल्यांकन करने के साथ-साथ उन सुधारों की जांच की गई है।

जो श्रमिकों को उनकी सेवानिवृत्ति से जुड़ी इच्छाओं को हासिल करने में मदद के लिए किए जा सकते हैं।

इसमें वित्तीय योजना की वास्तविकताओं में स्वास्थ्य के बढ़ते महत्व का अन्वेषण किया गया है।

पहली  बार वित्तीय साक्षरता एवं बढ़ती उम्र में सामाजिक प्रतिष्ठा से जुड़े मुद्दों की जांच की गई है।

एमडी एवं सीईओ विनीत अरोड़ा ने कहा कि एगॉन सेवानिवृत्ति तत्परता से संबंधित इस वर्ष के सर्वेक्षण में शामिल सभी देशों में भारतीयों का नजरिया अगले 12 महीनों में अपने देश की अर्थव्यवस्था के बारे में सबसे अधिक सकारात्मक पाया गया है।

सर्वेक्षण के अनुसार भारतीय लोग इस सर्वेक्षण में शामिल सभी अन्य देशों की तुलना में सेवानिवृत्ति के लिए सबसे अधिक स्व-वित्त पोषण कर रहे हैं।

सेवानिवृत्ति की योजना को जितनी जल्दी शुरू किया जाए उतना ही बेहतर है।

भारत ने 7.3 का मध्य स्तरीय एआरआरआई अंक हासिल किया और इस सर्वेक्षण में अग्रणी रहा।

इस साल भारत में 40 प्रतिशत श्रमिकों ने उच्च अंक प्राप्त किया।

वह 2017 में 44 प्रतिशत के अंक से नीचे है।

सेवानिवृत्ति तत्परता अंक (24 प्रतिशत) वाले श्रमिकों के अनुपात में गत वर्ष (19 प्रतिशत) की तुलना में वृद्धि हुई है।

गौरतलब है कि भारत में व्यक्ति की भूमिका अधिक महत्वपूर्ण है, जबकि विश्व स्तर पर राज्य की भूमिका महत्वपूर्ण है और यही बात जिम्मेदारी ग्रहण किए जाने को प्रेरित करती है।