फाल्गुन मास: पंचांग का आखिरी महीना फाल्गुन आरंभ, जानें महत्व

हिंदू धर्म पंचांग के बारह महीनों में पहला माह चैत्र का माना जाता हैं तो वही आखिरी महीने फाल्गुन का होता हैं फाल्गुन को शक्ति और यौवन का महीना भी कहा जाता हैं इस साल फाल्गुन का महीना दस फरवरी 2020 दिन सोमवार से आरंभ हो कर नौ मार्च सोमवार तक रहेगा। बता दें कि यह वसंत का समय होता हैं प्रकृति की विविध छटाओं से अलसाए माहौल में नई ऊर्जा का संचार हो उठता हैं। वही प्रकृति पूरी ऊर्जा, उत्साह से महक जाती हैं तो वही लोगों में भी एक नई ऊर्जा और मस्ती का संचार होता हैं कुदरत के नजरिए से फाल्गुन मास जितना महत्वपूर्ण होता हैं।

उतना ही यह माह धार्मिक नजरिए से भी खास माना जाता हैं इस महीने कई सारे पर्व और त्योहार पड़ते हैं। फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को जानकी जयंती और सीता अष्टमी। फाल्गुन कृष्ण पक्ष की एकादशी को विजया एकादशी के नाम से जाना जाता हैं तीन दिन बाद चतुर्दशी को भोलेनाथ की आराधना का महापर्व महाशिवरात्रि धूम धाम के साथ देशभर में मनाया जाएगा।


वही फाल्गुन मास को धार्मिक नजरिए से देखा जाए तो अमावस का भी इस माह में महत्व होता हैं दान, पुण्य, तर्पण आदि के लिहाज से अमावस्या खास फलदायी होती हैं। फाल्गुन शुक्ल एकादशी को आमलकी एकादशी भी कहा जाता हैं सुख समृद्धि व मोक्ष की कामना हेतु, इस दिन व्रत उपवास किया जाता हैं और ​भगवान श्री हरि विष्णु की आराधना भी इस दिन होती हैं रात को जागरण करते हुए द्वादशी के दिन व्रत का पारण किया जाता हैं।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS