वंदे भारत ट्रेन में बासी खाना वितरित करने वाले सेवा प्रदाता पर लगा एक लाख रुपये का जुर्माना: सरकार

वंदे भारत ट्रेन में बासी खाना वितरित करने वाले सेवा प्रदाता पर लगा एक लाख रुपये का जुर्माना: सरकार

सरकार ने शुक्रवार को बताया कि तेज गति की ट्रेन वंदे भारत में बासी खाना वितरित करने वाले सेवा प्रदाता को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया, उस पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया और नए सेवा प्रदाता की नियुक्ति के लिए प्रक्रिया भी प्रारंभ कर दी गई है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि 17 नवंबर 2019 को नयी दिल्ली से वाराणसी जा रही वंदे भारत ट्रेन गाड़ी संख्या 22435-36) में बासी खाना परोसे जाने की शिकायत दर्ज कराई गई थी। इस मामले की जांच की गई। गोयल ने बताया कि गाड़ी में रात के खाने की आपूर्ति करने वाले सेवा प्रदाता मैसर्स होटल लैंडमार्क, कानपुर को खानपाान सेवा मानकों का पालन न करने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया गया और उस पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया। उन्होंने बताया कि घटना के समय गाड़ी में मौजूद आईआरसीटीसी के संबंधित पर्यवेक्षकों पर नियमानुसार कार्रवाई की जा रही है। साथ ही नए सेवा प्रदाता की नियुक्ति के लिए प्रक्रिया भी प्रारंभ कर दी गई है।


लोकसभा में गुरूवार को कई सदस्यों ने अपने अपने क्षेत्रों में रेल परियोजनाओं के विस्तार और नयी रेलगाड़ियों की मांग की। शून्यकाल में तृणमूल कांग्रेस की नुसरत जहां ने अपने संसदीय क्षेत्र पश्चिम बंगाल के बशीरहाट में रेलवे संपर्क का विस्तार किये जाने की मांग की।

उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में दो वर्ष पहले सर्वेक्षण कार्य भी हुआ लेकिन उसके आगे मामला आगे नहीं बढ़ा। उन्होंने रेल मंत्रालय से इस विषय पर संज्ञान लेने की मांग की। भाजपा के शंकर लालवानी ने इंदौर से मुंबई के लिए एक एक्सप्रेस ट्रेन और दिल्ली के लिए तेजस ट्रेन शुरू करने की मांग की। भाजपा के अजय भट्ट ने भी अपने क्षेत्र में रेलवे विस्तार की मांग उठाई।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS