मौत के डर से चेहरा छिपाकर और आत्‍मघाती बेल्‍ट लगाकर घूमता था मोस्‍ट वॉन्‍टेड आतंकी बगदादी

मौत के डर से चेहरा छिपाकर और आत्‍मघाती बेल्‍ट लगाकर घूमता था मोस्‍ट वॉन्‍टेड आतंकी बगदादी

दुनिया के सबसे खतरनाक आतंकी संगठन आईएसआईएस के सरगना अबु बकर अल-बगदादी को अपने आखिरी दिनों में मौत का डर सताने लगा था। वह पिछले कुछ माह से अपनी सुरक्षा को लेकर खासा परेशान था। उसे इस बात का इल्‍म हो चुका था कि उसका संगठन अब कमजोर पड़ने लगा है और इस बात ने उसकी नींदें उड़ा दी थी। अपनी मौत के डर से वह काफी घबराने लगा था। न्‍यूज एजेंसी एपी की ओर से जारी एक खास रिपोर्ट में बगदादी के आखिर दिनों का जिक्र किया गया है। इसमें बताया गया है कि मौत के डर से बगदादी का आत्‍मविश्‍वास भी कम हो गया था। आपको बता दें कि अमेरिका ने पिछले माह एक मिलिट्री ऑपरेशन में बगदादी को ढेर कर दिया है।

सीरिया के इदलिब में एक खास ऑपरेशन में बगदादी को अमेरिकी सेनाओं ने घेर लिया था। आखिरी में बगदादी ने खुद को बम से उड़ा लिया था। एपी ने बगदादी के साथ रहने वाले लोगों कुछ लोगों के हवाले से लिखा है कि आतंकी सरगना अपनी सुरक्षा को लेकर खासा परेशान था। यहां तक कि अपनी जान बचाने के लिए इराक बॉर्डर पर ईस्‍टर्न सीरिया में कहीं सुरक्षित ठिकाने की तलाश कर रहा था। एपी की रिपोर्ट के मुताबिक बगदादी अपने साथ एक 17 साल की याजिदी लड़की को रखता था। यह लड़की बगदादी की सेक्‍स स्‍लेव के तौर पर उसके साथ रहती थी। इस वर्ष मई में अमेरिकी सेना ने लड़की को बगदादी के चंगुल से छुड़ाया था।


इस लड़की ने सेना को जानकारी दी थी कि बगदादी अपने सिर्फ 6-7 कुछ करीबी लोगों के साथ ही घूमता था। कुछ महीने पहले उसने अपने सारे अधिकार एक सीनियर को दे दिए थे। इस लड़की के मुताबिक बगदादी ने एक बार साल 2017 में इदलिब से भागने की कोशिश की थी। एक दिन रात को तीन गाड़ियों के काफिले के साथ बगदादी निकला और इस समय उसके साथ उसकी बीवी थी। लेकिन वही जैसे ही हाइवे पर पहुंचा उसे लगा कि उस पर हमला हो सकता है और इस डर से वह वापस लौट आया था।17 साल की उस याजिदी लड़की ने अमेरिकी सेना को बताया था कि वह करीब चार माह तक बगदादी के ससुर के घर पर रही थी। यहां पर बगदादी रोज उसका रेप करता था और मना करने पर पीटता था। साल 2018 में इस लड़की को बगदादी ने किसी और को सौंप दिया। इसके बाद से उसका बगदादी से कभी आमना-सामना नहीं हुआ।

हालांकि एक बार बगदादी ने गिफ्ट के तौर पर लड़की के लिए गहने भेजे थे। बगदादी इसके बाद से सीरिया में लगातार अपना ठिकाना बदलता रहा। अमेरिकी सेना ने बगदादी के जिन सहयोगियों को पकड़ा है, उन्‍होंने जानकारी दी है कि मोस्‍ट वॉन्‍टेड आतंकी हमेशा आत्मघाती बेल्ट लगा कर घूमता था। इतना ही नहीं वह इसी बेल्ट को पहन कर सोता भी था। बगदादी कभी भी मोबाइल फोन का प्रयोग नहीं करता था लेकिन उसके सहयोगी अबू-हसान अल मुहाजिर के पास गैलेक्सी 7 मोबाइल फोन था और वह हमेशा इसका प्रयोग करता था। मुजाहिर फिलहाल इराकी सेना के कब्‍जे में है।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS