2019 क्रिकेट वर्ल्ड कप के मैचों की लाइव कमेंट्री रेडियो पर नहीं होगी, जाने कारण

2019 क्रिकेट वर्ल्ड कप के मैचों की लाइव कमेंट्री रेडियो पर नहीं होगी, जाने कारण

क्रिकेट वर्ल्ड कप २०१९ के दर्शकों के लिए यह बुरी खबर दिल्ली हाईकोर्ट में दी गई जानकारी के बाद सामने आई है. प्रसार भारती ने दिल्ली हाईकोर्ट के समक्ष कहा कि क्रिकेट वर्ल्ड कप की कोई लाइव ऑडियो कमेंट्री नहीं होगी क्योंकि वह इंडिया स्पोर्ट्स फ्लैशेस प्राइवेट लिमिटेड से फीड नहीं लेगी.

रेडियो की पहुंच भारत में 90 फीसदी आबादी तक है. ग्रामीण भारत के अधिकांश लोग जानकारी के लिए रेडियो पर ही निर्भर हैं. इस बीच, क्रिकेट प्रेमियों के लिए एक बुरी खबर है. दरअसल, रेडियो पर आगामी क्रिकेट वर्ल्ड कप के मैचों का लाइव प्रसारण नहीं होगा.


बता दें कि इंडिया स्पोर्ट्स फ्लैशेस प्राइवेट लिमिटेड एक ऐसी संस्था है जिसके पास ऐप और वेब प्लेटफॉर्म पर आईसीसी वर्ल्ड कप के लाइव ऑडियो फीड के प्रसारण के अधिकार हैं.

इंडिया स्पोर्ट्स फ्लैशेस प्राइवेट लिमिटेड ने दिल्ली हाईकोर्ट के समक्ष कहा कि स्पोर्ट्स ब्रॉडकास्टिंग सिग्नल (प्रसार भारती के साथ अनिवार्य साझाकरण) एक्ट 2007 के अनुसार, वे राष्ट्रीय महत्व के किसी भी खेल की रेडियो कमेंट्री तब तक प्रसारित नहीं कर सकते जब तक कि वो प्रसार भारती के साथ (एक साथ, बिना किसी समय अंतराल के) लाइव प्रसारण सिग्नल साझा न करें. इसे दूसरे शब्दों में ऐसे समझें कि नियम के मुताबिक, वर्ल्ड कप की रेडियो कमेंट्री को प्रसारित करने के लिए इंडिया स्पोर्ट्स फ्लैशेस प्राइवेट लिमिटेड को प्रसार भारती को भी लाइव प्रसारण सिग्नल शेयर करना होगा.

एक्ट की धारा 3 के एक सब क्लॉज के मुताबिक, ‘नियम और शर्तों के मुताबिक लाइव प्रसारण के दौरान विज्ञापन से होने वाली कमाई का बंटवारा आधिकारिक मालिकाना (स्वामी या धारक) रखने वाली संस्था और प्रसार भारती के बीच टेलीविजन कवरेज के मामले में 75:25 के अनुपात से कम नहीं होगा. रेडियो कवरेज के मामले में यह 50:50 के अनुपात से कम नहीं होगा.’

प्रसार भारती ने याचिकाकर्ता द्वारा हाईकोर्ट में दी गई जानकारी को चुनौती दी, जिसमें कहा गया कि स्पोर्ट्स फ्लैशेस प्राइवेट लिमिटेड इस तरह की सेवाएं (मैच का लाइव प्रसारण) प्रदान करने के लिए न तो रेडियो चैनल है और न ही लाइसेंसधारी है. हालांकि, दिल्ली हाईकोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि न तो स्पोर्ट्स फ्लैश ‘इस तरह के फीड (मैच के लाइव प्रसारण) को साझा करने के लिए बाध्य है और न ही प्रसार भारती इसे स्वीकार करने के लिए बाध्य है.’

अदालत में लड़ी गई इस लड़ाई में दोनों पक्षों में से कोई भी जीत का दावा कर सकता है, लेकिन इंग्लैंड से वर्ल्ड कप के मैचौं का बाल-बाइ-बॉल अपडेट प्राप्त करने के लिए ऑल इंडिया रेडियो (AIR) की कमेंट्री का लुत्फ उठाने वाले क्रिकेट प्रेमियों के लिए यह किसी हार के अहसास जैसा होगा.

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS