जानें, क्या है जल जीवन मिशन, 3.5 लाख करोड़ खर्च करेगी सरकार

जानें, क्या है जल जीवन मिशन, 3.5 लाख करोड़ खर्च करेगी सरकार

देश के 73वें स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से देश को संबोधित किया. अपने भाषण में उन्होंने पेयजल की सुरक्षा के लिए जल जीवन मिशन की नई योजना के बारे में बताया, जानें क्या है ये मिशन जिसमें साढ़े तीन लाख करोड़ की लागत लगेगी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज देश में आधे से अधिक घर ऐसे हैं जिनमें पीने का स्वच्छ पानी उपलब्ध नहीं है. उनके जीवन का बड़ा हिस्सा पानी लाने में खप जाता है. इस सरकार ने हर घर में जल, पीने का पानी लाने का संकल्प किया है.


आने वाले दिनों में जल जीवन मिशन को लेकर आगे बढ़ेंगे. इसके लिए केंद्र और राज्य मिल कर साथ काम करेंगे. साढ़े तीन लाख करोड़ से भी ज़्यादा इस पर खर्च करने का संकल्प किया है.

मिशन के बारे में

उन्होंने आगे कहा कि वर्षा के पानी को रोकने, समुद्री पानी, माइक्रो इरिगेशन, पानी बचाने का अभियान, सामान्य नागिरक सजग हो, बच्चों को पानी के महत्ता की शिक्षा दी जाए. प्रधानमंत्री ने लोगों को भरोसा दिलाते हुए कहा कि 70 साल में जो काम हुआ है अगले पांच वर्षों में उससे पांच गुना अधिक काम हो, हमें इसका प्रयास करना है.

जन सामान्य का अभियान बने

पेयजल की समस्या के बारे में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि महुड़ी के जैन मुनि बुद्धि‍ सागर महाराज ने लिखा है कि भविष्य में एक दिन ऐसा आएगा जब पानी किराने की दुकान में बिकेगा. 100 साल पहले उनकी कही बात सही हो गई है. आज हम किराने की दुकान से पानी खरीदते हैं. उन्होंने कहा कि जल संचय का यह अभियान सरकारी नहीं बनना चाहिए, जन सामान्य का अभियान बनना चाहिए.

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS