जानिए ऑस्कर से जुड़ी वो बातें जो शायद आपको पता नहीं हैं

जानिए ऑस्कर से जुड़ी वो बातें जो शायद आपको पता नहीं हैं

मनोरंजन जगत में ऑस्कर अवॉर्ड को सबसे ऊंचा दर्जा दिया गया है. जिस कलाकार या फिल्म को ऑस्कर मिल जाता है, उसका नाम इतिहास में लिखा जाना लाजिमी है. एक बार फिर ऑस्कर अवॉर्ड हमारी दहलीज पर खड़ा है और 2020 के लिए इसकी सारी तैयारी पूरी हो गई है. अब तो बस इंतजार है तो ये जानने का कि कौन-सी फिल्म और कलाकार ने इस साल ऑस्कर्स इतिहास में अपना नाम जुड़वाया है.

लेकिन जिस ऑस्कर को इतनी अहमियत दी जाती है, उसका खुद का इतिहास भी काफी खूबसूरत है. ऑस्कर की यात्रा में कई ऐसे पल आए हैं, कई ऐसी चीजें हुई हैं, जिसने कभी खुश किया है तो कभी कर दिया हैरान. तो चलिए ऑस्कर से जुड़ी जानते हैं कुछ रोचक बाते जो शायद ही आपको पता हों:


ऑस्कर पाने वाला सबसे कम उम्र की स्टार
टैटम ओ नील को साल 1973 में बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस के लिए ऑस्कर अवॉड से नवाजा गया था. उन्हें ये अवॉर्ड फिल्म ‘पेपर मून’ के लिए मिला था. अब वैसे तो और भी कई ऐसे कलाकार हैं जिन्होंने ये अवॉर्ड अपने नाम किया था. लेकिन टैटम को ये अवॉर्ड मात्र 10 साल की उम्र में मिला था. इसी के चलते सबसे कम उम्र में ऑस्कर अपने नाम करने वाली वो पहली कलाकार बनी.

ऑस्कर पाने वाला सबसे ज्यादा उम्र का स्टार

अगर सबसे कम उम्र में ऑस्कर टैटम ओ नील को मिला था तो यही अवॉर्ड एक सबसे उम्रदराज शख्स को भी मिला हुआ है. हम बात कर रहे हैं क्रिस्टोफर प्लमर की, जिन्होंने 82 साल की उम्र में बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर के लिए अकेडमी अवॉर्ड (2012) जीता था. उन्हें ये अवॉर्ड फिल्म ‘बिगनर्स’ के लिए मिला था.

पहली महिला डायरेक्टर

ऑस्कर में महिलाओं का भी खासा दबदबा देखा गया है. इसी कड़ी में साल 2009 में कैथरीन बिगलो ने इतिहास रच दिया था. कैथरीन को फिल्म ‘द हर्ट लॉकर’ के लिए बेस्ट डायरेक्टर अवॉर्ड मिला था. वो पहली महिला डायरेक्टर थीं जिन्हें ऑस्कर जैसा बड़ा अवॉर्ड मिला था.

सबसे ज्यादा नॉमिनेशन पाने वाला एक्टर
मेरिल स्ट्रीप, इकलौती कलाकार हैं जिन्हें 18 बार ऑस्कर के लिए नॉमिनेट किया गया था. ऑस्कर में एक बार नॉमिनेट होना भी बड़ी बात होती है लेकिन मेरिल स्ट्रीप तो 18 बार ये कारनामा कर चुकी हैं. वैसे उन्हें ‘सोफीज चॉइस’ और ‘द आयरन लेडी’ के लिए बेस्ट एक्ट्रेस का ऑस्कर मिल चुका है.

सबसे लम्बी फिल्म

ऐसा कहा जाता है कि बॉलीवुड फिल्में हॉलीवुड की तुलना में ज्यादा लंबी होती हैं. लेकिन इस गलतफहमी को दूर किया था हॉलीवुड फिल्म ‘गॉन विथ द विंड’ ने क्योंकि वो फिल्म पूरी 234 मिनट लंबी थी. अब वो फिल्म लंबी तो थी लेकिन बेमिसाल भी थी. इसी के चलते ‘गॉन विथ द विंड’ को बेस्ट पिक्चर अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था.

ऑस्कर इतना प्रतिष्ठित अवॉर्ड है कि इसमें टैलेंट को कई बार नवाजा गया है. इसी के चलते साल 1987 में एक ऐसी महिला ने ऑस्कर अपने नाम किया था जो सुन नहीं सकती थी. हम बात कर रहे हैं मार्ली मैटलिन की जिन्होंने फिल्म ‘चिलडरन ऑफ ए लैसर गॉड’ के लिए ऑस्कर अवॉर्ड जीता था.

सबसे लम्बी स्पीच

ऑस्कर अवॉर्ड मिलने के बाद अगर कोई सबसे यादगर पल होता है तो वो है विनिंग स्पीच. लेकिन ऑस्कर अवॉर्ड में ऐसे भी मौके आए हैं जब कलाकार ने समय सीमा से आके जाकर काफी लंबी विनिंग स्पीच दी है. ऐसी ही कलाकार हैं ग्रीर गार्सन जिन्होंने पूरे 5 मिनट 30 सेकेंड तक स्पीच दी थी. उन्हें फिल्म ‘मिसेज मिनिवर’ के लिए बेस्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड मिला था.

अवॉर्ड कोई भी हो, उसमें होस्ट की भूमिका काफी अहम होती है. होस्त के चलते ही इन अवॉर्ड शोज में मनोरंजन का तड़का लगता है. अब जब बात ऑस्कर की आती है तो उसके होस्ट भी काफी माहिर होते हैं. ऐसे ही एक थे बॉब होप जिन्होंने सबसे ज्यादा बार ऑस्कर को होस्ट किया था. होप ने 19 बार ऑस्कर अवॉर्ड होस्ट किए था.

अब जितना बड़ा ऑस्कर अवॉर्ड माना जाता है, उसे देखते हुए तो जिस शख्स के नाम से ये अवॉर्ड शुरू किए गए है, वो काफी बड़ी शख्सियत होगी. लेकिन असल में ऐसा है नहीं. पूर्व अकैडेमी लाइब्रेरियन मार्गरेट हैरिक के मुताबिक उनके एक अकंल का नाम ऑस्कर था. अब क्योंकि उनका चेहरा इस स्टेचू से मेल खाता था, इसलिए ये ऑस्कर अवॉर्ड कहे जाने लगा.

ऑस्कर में ग्रीर गार्सन ने जरूर सबसे लंबी स्पीच दी थी लेकिन असल में ऐसा करना ठीक नहीं होता. अब ऐसा इसलिए क्योंकि ऑस्कर अवॉर्ड में सभी कलाकारों के लिए निधारित समय होता है. उसी टाइम फ्रेम में उन्हें अपनी विनिंग स्पीच देनी होती है. ऑस्कर में एक कलाकार को 45 सेकेंड के अंदर अपनी स्पीच खत्म करनी होती है.

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS