कोरोना को हराने के बाद भी कनिका कपूर की मुसीबतें जारी हैं, जानिए अब पुलिस क्यों करेगी पूछताछ

पूरे देश में कोरोना वायरस का संकट देखा जा रहा है। भारत में इस वायरस से 4000 से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं, जबकि 109 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। वहीं 291 लोगों ने कोरोना वायरस को हराया है। प्रसिद्ध बॉलीवुड गायक कनिका कपूर भी कोरोना वायरस को हराने वालों में शामिल हैं। कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद वह लंबे समय से अस्पताल में भर्ती थीं, लेकिन कोविद 19 की रिपोर्ट नकारात्मक होने के बाद अब उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद भी कनिका कपूर की मुसीबतें खत्म नहीं हुई हैं। अब उत्तर प्रदेश पुलिस ने उन पर शिकंजा कसने का फैसला किया है। जी हां, जब कनिका कपूर को कोरोनावायरस से पीड़ित पाया गया, उस समय उन पर संक्रमण के बीच लापरवाही दिखाने का आरोप लगाया गया था। जिसके कारण कनिका कपूर के खिलाफ लखनऊ में एफआईआर दर्ज की गई थी।


कनिका के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा सीएमसी 188 (महामारी कानून) 269 (संक्रामक रोगों के फैलने का एक कृत्य) और 270 (लखनऊ में जीवनरक्षक बीमारी फैलने) के तहत एक प्राथमिकी दर्ज की गई थी। अब लखनऊ के पुलिस आयुक्त सुजीत पांडे ने इस मामले में गायक के खिलाफ हस्तक्षेप करने का फैसला किया है।

कनिका कपूर ने सोशल मीडिया के जरिए कोरोना वायरस से संक्रमित होने की जानकारी दी थी। हालांकि, कुछ समय बाद, उन्होंने उस पोस्ट को हटा दिया। कोरिका से संक्रमित होने से पहले कनिका कपूर लंदन से लौटी थीं। फिर उन्होंने लखनऊ और मुंबई सहित कई कार्यक्रमों में भाग लिया। कनिका ने लखनऊ में एक पार्टी में भी शिरकत की। उस पार्टी में राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और उनके सांसद बेटे दुष्यंत सिंह, यूपी के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह जैसे कई लोग मौजूद थे।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS