ईरान और अमेरिका में ज़ंग चाहता है इजरायल?

ईरान और अमेरिका में ज़ंग चाहता है इजरायल?

इस बात के दृष्टिगत कि मध्य पूर्व में युद्ध, रिपब्लिकन पार्टी के सत्ताकाल में आरंभ किये गये थे।

बहुत से लोगों का ख्याल है कि ट्रम्प भी सभी राजनीतिक मार्ग बंद करके क्षेत्र में एक नयी लड़ाई छेड़ने का प्रयास कर रहे हैं।


अमरीका विभन्न क्षेत्रों में युद्ध की आग भड़का दे।

शायद इसीलिए उन्होंने ने ईरान के आईआरजीसी को अमरीका की आंतकवादियों की सूचि में शामिल कर दिया है।

हिज्बुल्लाह ने सन 2000 में दक्षिणी लेबनान से इस्राईल को खदेड़ कर नया इतिहास लिखा था।

दर अस्ल ट्रम्प को मालूम है कि अमरीकी कांग्रेस उन्हें ईरान के खिलाफ युद्ध की अनुमति नहीं देगा

काँग्रेस को पता है कि ईरान से युद्द्ध से बाहर निकलना बेहद मुश्किल होगा।

बहुत से लोगों का कहना है कि आज कल अमरीका पर ट्रम्प का राज नहीं है।

यह देश  इस्राईली प्रधानमंत्री नेतेन्याहू और ट्रम्प के दामाद जे कुशनर के हाथों में है।

जान बोल्टन और माइक पोम्मियो जैसे ट्रम्म के सलाहकार  अमरीका में इस्राईली लाबी के एजेन्ट हैं जो ट्रम्प को उसी ओर घुमा रहे हैं।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS