इंदौर में लगेंगे तीन हजार सीसीटीवी कैमरे, अपराधियों की निगरानी के साथ होगा ट्रैफिक कंट्रोल

इंदौर में लगेंगे तीन हजार सीसीटीवी कैमरे, अपराधियों की निगरानी के साथ होगा ट्रैफिक कंट्रोल

कलेक्टर ने गुरुवार को एआईसीटीएसएल सभाकक्ष में अधिकारियों की बैठक कर शहर की यातायात व्यवस्था की समीक्षा की. बैठक में नगर निगम आयुक्त और एसएसपी मौजूद रहे. इस अवसर पर कलेक्टर ने कहा कि नगर में तीन हजार सीसीटीवी कैमरे लगाये जाएंगे. यह कार्य नगर निगम और पुलिस विभाग के आपसी समन्वय से किया जायेगा. इससे अपराधियों पर कड़ी निगरानी रखी जा सकेगी. साथ ही क्राइम कंट्रोल में भी बहुत मदद मिलेगी. यह कार्य स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत शीघ्र पूरा किया जाएगा.

कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव ने कहा कि ये सीसीटीवी कैमरे नगर की प्रमुख गलियों, सड़कों और चौराहों पर लगाये जाएंगे. राजबाड़ा और 56 दुकान पर पीडि़तों की मदद के लिए पैनिक बटन भी लगाये जाएंगे. पैनिक बटन दबाने पर नजदीकी थाने पर तुरंत सूचना पहुंचेगी. पुलिस द्वारा पीडि़त को तुरंत सहायता दी जायेगी. ये पैनिक बटन मोनोपोल में लगाये जाएंगे, जो ऑडियो-वीडियो सूचना नजदीकी थाने की पुलिस को देंगे. पैनिक बटन एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टैण्ड और भंवरकुंआ चौराहे पर भी लगाने का प्रस्ताव है.


कलेक्टर ने बताया कि सीसीटीवी कैमरों से इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम में भी मदद मिलेगी. भविष्य में नई कॉलोनियों को अनुमति देते समय क्राइम कंट्रोल के लिए पूरी कॉलोनी में सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए शर्त जोड़ी जायेगी. स्कूलों और कॉलेजों में भी सीसीटीवी कैमरे लगवाने का प्रस्ताव है. ये सीसीटीवी कैमरे सामाजिक, औद्योगिक, शैक्षणिक और स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से लगाये जाने का प्रस्ताव है. कैमरे लगाने वाली कंपनी को मेंटेनेंस को भी दायित्व सौंपा जायेगा. हर 3 साल में कैमरे बदल दिये जाएंगे. इंदौर जिले में इस समय 20 इंटरनेट कंपनियां काम कर रही हैं. यह सिस्टम इंटरनेट से चलेगा. बढ़ती हुई आबादी को देखते हुए सीसीटीवी कैमरे लगाना जरूरी है. इन कैमरों से ट्रैफिक सिस्टम भी कंट्रोल होगा. इस अवसर पर अन्य पुलिस अधिकारी भी मौजूद रहे.

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS