भारत ने चीन पहुंचाई 15 टन मेडिकल सप्‍लाई, भारतीय मार्केट में भटक रहे लोग

भारत ने चीन पहुंचाई 15 टन मेडिकल सप्‍लाई, भारतीय मार्केट में भटक रहे लोग

केंद्र सरकार ने लोकसभा में जारी एक बयान में यह कबूल किया है कि उसने कोरोनावायरस से बुरी तरह संक्रमित देश चीन को 15 टन की मेडिकल सामानों की सप्‍लाई की है। इनमें मास्‍क, ग्‍लव्‍ज और अन्‍य इमरजेंसी इक्‍यूपमेंट शामिल हैं। इन सामानों की कीमत करीब 2.11 करोड़ रुपये है। आपको बता दें कि कोरोनवायरस के खौफ के चलते भारत में ही मास्‍क इत्‍यादि नहीं मिल रहा है या फिर ऊंचे दामों में मिल रहा है। वहीं कई जगह सैनिटाइजर की नकली फैक्‍ट्री तक पकड़ी गई है। जो मास्‍क यहां बनाया जा रहा है वो भी गुणवत्‍तापरक नहीं है।

केंद्रीय विदेश राज्‍य मंत्री वी मुरलीधरन ने एक प्रश्‍न का लिखित उत्‍तर देते हुए यह आंकड़े दिए हैं। उन्‍होंने कहा है कि चीन को एक लाख सर्जिकल मास्‍क, पांच लाख जोड़े सर्जिकल ग्‍लव्‍ज, 75 इंफयूजन पंप्‍स, 30 इंटरनल फीडिंग पंप्‍स, 21 डिफ्रीबलेटर और चार हजार एन-95 मास्‍क शामिल हैं। यह सब हुवेई चैरिटी फेडरेशन, वुहान को सौंपा गया है।


उन्‍होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के राष्‍ट्रपति को कोरोनवायरस के मद्देनजर आश्‍वस्‍त किया था कि भारत उनका एक जिम्‍मेदार पड़ोसी है और उन्‍हें मदद करेगा। इसके मद्देनजर 26 फरवररी को यह सामान चीन भेजा गया है। इसके लिए तीन स्‍पेशल फ्लाइट चीन भेजी गईं। एयरफोर्स के सी-17 विमान से इन्‍हें सप्‍लाई किया गया। इस फ्लाइट से चीनी में फंसे 766 लोगों को रेस्‍क्‍यू किया गया।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS