छत्तीसगढ़ के इस ‘गारबेज कैफे’ में एक किलो प्लास्टिक के बदले मिलता है भरपेट खाना

छत्तीसगढ़ के इस ‘गारबेज कैफे’ में एक किलो प्लास्टिक के बदले मिलता है भरपेट खाना

शहर के मेयर अजय तिर्की का कहना है कि इस मुहिम से शहर को साफ रखा जाएगा. अंबिकापुर देश का दूसरा सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया है.

छत्तीसगढ़ में प्लास्टिक कचरे को निबटाने के लिए नई शुरुआत की गई है. अंबिकापुर नगर निगम ने प्लास्टिक कचरे के बदले खाना देने के लिए गारबेज क्लीनिक नाम से कैफे खोला है. यहां एक किलो प्लास्टिक के बदले भरपेट खाना खिलाया जाएगा.


मेयर अजय तिर्की का कहना है कि यहां एक किलो प्लास्टिक लाकर देने वालों को भरपेट खाना दिया जाएगा. 500 ग्राम कचरे के बदले नाश्ता दिया जाएगा. इस मुहिम से शहर को साफ रखने में सहायता मिलेगी.

अंबिकापुर के मेन बस स्टैंड पर ये कैफे खुला है. यहां जो प्लास्टिक इकट्ठा होगा उसे सड़क बनाने में इस्तेमाल किया जाएगा. इससे पहले भी शहर में प्लास्टिक को डामर बनाकर सड़क निर्माण में इस्तेमाल किया गया है. बजट में इस कैफे के लिए 5 लाख रुपए आवंटित किए गए हैं. बता दें कि अंबिकापुर को इंदौर के बाद दूसरा सबसे साफ शहर घोषित किया गया है.

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS