इतिहास में पहली बार किसी मुख्यमंत्री पर लगा चुनाव प्रचार करने पर रोक!

इतिहास में पहली बार किसी मुख्यमंत्री पर लगा चुनाव प्रचार करने पर रोक!

चुनाव प्रचार के दौरान आपत्तिजनक बयान को लेकर चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बसपा सुप्रीमो मायावती के खिलाफ सख्त कदम उठाया है।

आयोग ने सीएम योगी के 72 घंटे तक चुनाव प्रचार पर पाबंदी लगा दी है।


वहीं, मायावती के 48 घंटे तक प्रचार पर प्रतिबंध लगा दिया है।

प्रतिबंध मंगलवार सुबह छह बजे से लागू होगा।

आचार संहित उल्लंघन को लेकर चुनाव आयोग ने सीएम योगी और बसपा सुप्रीमो मायावती पर बड़ी कार्रवाई की है।

आयोग ने योगी पर 72 घंटे यानी तीन दिन के लिए चुनाव प्रचार की पाबंदी लगाई है।

चुनावी इतिहास में यह पहली बार है जब किसी प्रदेश के सीएम पर इतनी बड़ी कार्रवाई की गई है।

आयोग की इस बड़ी कार्रवाई के बाद राजनीतिक दलों को कड़ा संदेश मिला है।

चुनाव प्रचार के दौरान तमाम नेताओं के विवादित बयान आते रहे।

चुनाव आयोग की तरफ से नोटिस जाते रहे।

कार्रवाई कम ही मौकों पर नजर आई।

इसे लेकर लगातार सवाल उठते रहे।

फिर बात सुप्रीम कोर्ट तक पहुंची।

सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद ही सीएम योगी और मायावती पर सख्त फैसला लिया गया।

बहरहाल, ये पहला मौका है जब किसी राज्य के मौजूदा मुख्यमंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री पर आयोग ने चुनाव के दौरान इतना बड़ा फैसला लिया है। सीएम योगी को चुनाव प्रचार के दौरान पहले भी एक बार चेताया गया था।

शायद इसी वजह से उनपर 72 घंटे की पाबंदी लगी है। मायावती को पहला नोटिस मिला था इसलिए उनपर 48 घंटे की रोक लगाई गई।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS