सरकार दे रही है घर बैठे सस्ता सोना खरीदने का मौका, बचे हैं सिर्फ 2 दिन

सरकार दे रही है घर बैठे सस्ता सोना खरीदने का मौका, बचे हैं सिर्फ 2 दिन

सोने की ऊंची कीमतें (सोने की कीमतें) के बीच मोदी सरकार (मोदी सरकार) सस्ते सोने की नई स्कीम लाई है। सरकार ने सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड 2019-20 (सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम) की सातवीं श्रृंखला पेश की है। यह स्कीम 2 दिसंबर को पेश हुई थी और इसमें 6 दिसंबर तक निवेश किया जा सकता था। इस बार सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड का इश्यू क्वालिटी 3,795 रुपये प्रति ग्राम निर्धारित किया गया है। इसमें निवेश करने पर आपको ब्याज भी मिलेगा। इसके अलावा ऑनलाइन खरीदने पर सरकार 50 रुपये की छूट भी दे रही है। आपके पास सस्ते में सोने की खरीद के लिए 2 दिन का समय है।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम क्या है?
इस योजना की शुरुआत नवंबर 2015 में हुई थी। इसका मकसद फिजिकल गोल्ड की मांग में कमी लाना और सोने की खरीद में उपयोग होने वाली घरेलू बचत का इस्तेमाल वित्तीय बचत में करना है। घर में सोने की खरीद कर रखने की बजाय अगर आप सॉवरेन गोल्ड बॉनीड में निवेश करते हैं, तो आप टैक्स भी बचा सकते हैं।


कहां से सोना रखेंगे?
सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की बिक्री बैंकों, स्टॉक होल्डिंग कोर्प ऑफ इंडिया लिमिटेड, चुने गए पोस्ट ऑफिस और एनएसई और बीएसई के माध्यम से होती है। आप इन सभी में से किसी भी एक स्थान पर बॉन्ड स्कीम में शामिल हो सकते हैं। आपको बता दें कि भारत बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन लिमिटेड की ओर से पिछले 3 दिन 999 प्योरिटी वाले सोने की दी गई कीमतों के आधार पर इस टेबल की कीमत रुपये में तय होती है। 50 रुपये की एक्सट्रा छूट मिलेगी

भारत सरकार ने आरबीआई की सलाह से ऑफ़लाइन आवेदन और भुगतान करने पर बॉन्ड की कीमत में 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट दी है। मतलब साफ है कि ये गोल्ड बॉन्डस की कीमत 3,795 रुपये प्रति ग्राम तय है। अगर आपने पहले से बुक किया है तो आपको 50 रुपये की छूट मिलेगी। यानी फिर से कीमत 3,745 रुपये प्रति ग्राम होगी। सोवरन गोल्ड बॉन्ड में आवेदन का सेटलमेंट 10 दिसंबर 2019 को होगा, यानी निवेशकों को इस तारीख को बॉन्ड अलॉट किया जाएगा।

कितना खरीद सकते हैं सोना
सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम के तहत निवेश करने वाला व्यक्ति एक वित्तीय वर्ष में अधिकतम 500 ग्राम सोने के बॉन्ड खरीद सकता है. वहीं न्यूनतम निवेश एक ग्राम का होना जरूरी है. इस स्कीम में निवेश करने पर आप टैक्स बचा सकते हैं.

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड पर मिलता है ब्याज
सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेश करने वालों को सरकार एक निश्चित ब्याज हर साल देती है. वहीं अगर गोल्ड का रेट बढ़ता है तो निवेशक को इसका फायदा भी मिलता है. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड पर सालाना 2.5 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है. इस ब्याज का भुगतान हर 6 महीने में किया जाता है.

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड से पैसा निकलने पर टैक्स
अगर आप सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड को मैच्योरिटी तक होल्ड करते हैं तो इस पर आपको कोई कैपिटल गेंस टैक्स नहीं देना होगा. हालांकि, मैच्योरिटी की तारीख से पहले अगर आप एक्सचेंज के जरिए इसे बेचते हैं तो आपको इस पर टैक्स देना होगा. अगर आप सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड को खरीदने के 3 साल के अंदर बेचते हैं तो इसे शॉर्ट टर्म गेन माना जाता है. इस तरह के गेन को निवेशक की इनकम के तौर पर माना जाता है.

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS