धोनी के छक्के पर भड़के गंभीर, कहा- सिर्फ इसकी वजह से हम नहीं जीते थे वर्ल्ड कप

भारतीय क्रिकेट इतिहास में 2 अप्रैल का दिन सुरहरे अक्षरों में दर्ज है. इसी दिन नौ साल पहले टीम इंडिया ने श्रीलंका को हराकर दूसरी बार वर्ल्ड कप ट्रॉफी उठाई थी. 2011 में मुंबई के वानखेड़े में नुवान कुलासेकरा की गेंद पर लगाए महेंद्र सिंह धोनी के उस विजयी छक्के को भला कौन क्रिकेटप्रेमी भूल सकता है. यहां तक कि आज के दिन इसका वीडियो सोशल मीडिया पर ट्रेंड भी कर रहा है. लेकिन फाइनल मुकाबले में 97 रनों की विजयी पारी खेलने वाले गौतम गंभीर ने इसे लेकर इशारों-इशारों में धोनी पर निशाना साधा है.

गंभीर का कहना है कि वर्ल्ड कप जीत किसी एक खिलाड़ी नहीं बल्कि पूरी टीम की वजह से मिली थी. उन्होंने कहा कि वर्ल्ड कप पूरी टीम की बदौलत जीता गया था, किसी एक के छक्के के दम पर नहीं.


दरअसल क्रिकेट वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने एक ट्वीट किया था जिसमें उसने महेंद्र सिंह धोनी के लगाए गए विजयी छक्के की तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा कि इस एक शॉट ने साल 2011 में लाखों भारतीयों को जश्न में डुबो दिया.इसी का जवाब देते हुए गैतम गंभीर ने ट्वीट किया, “‘ईएसपीएनक्रिकइंफो आपको याद दिलाना चाहूंगा कि विश्व कप जीतने में पूरे भारत, टीम इंडिया और सपोर्ट स्टाफ का हाथ था. बहुत हुआ एक छक्के के लिए ही आपका इतना प्यार.”

पूरी दुनिया आज भले ही महेंद्र सिंह धोनी के विजयी छक्के को ही टीम इंडिया की वर्ल्ड कप जीत की पहचान मान रही हो लेकिन सच्चाई ये भी है कि इस जीत का आधार गौतम गंभीर की बेहतरीन 97 रनों की पारी ने रखा था.

जब भारत ने 31 रन पर सचिन और सहवाग के विकेट गंवा दिए थे तो वो गंभीर ही थे जिन्होंने पहले विराट कोहली के साथ 84 रन की साझेदारी की और फिर धोनी के साथ 109 रन जोड़े. अगर यूं कहा जाए कि टीम इंडिया को विजयी मंजिल के दरवाजे तक ले जाने का काम गंभीर ने किया था तो गलत नहीं होगा.

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS