किसानों की मौत अगर मुद्दा तो शहीद सैनिकों का जिक्र करना गलत नहीं- पीएम मोदी

किसानों की मौत अगर मुद्दा तो शहीद सैनिकों का जिक्र करना गलत नहीं- पीएम मोदी

चुनावी जीत के लिए सेना को भाषण का मुददा बनाने के आरोपों को प्रधान मंत्री मोदी जी ने नकार दिया।

उन्होने किसान और सेना की सुरक्षा  को ज़रूरी बताया है।


विपक्षी दलों ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री चुनाव में जीत के लिए सुरक्षा बलों के नाम का उपयोग कर रहे हैं।

यह सब जानते हैं कि उनकी सरकार ने लोगों की आधारभूत जरूरतों के उन मुद्दों पर काम किया है।

पिछले दस सालों मैं उन्होने जनता के ज़रूरी मुद्दों पर काम किया है।

उन्होंने कहा कि वे असल में वंशवादी राजनीति के खिलाफ हैं।

उनका कहना है की जहां हज़ार सैनिक बलिदान देते हैं, ये मुददा उठाना ज़रूरी है।

उनका प्रतिरोध मुद्दों पर आधारित है ना कि व्यक्ति विशेष पर।

वंशवादी राजनीति लोकतंत्र के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक है।

चुनाव आयोग ने उनके भाषण की समीक्षा की है।

चुनाव आयोग ने भाषण मैं सैन्य बालों के प्रयोग पर रोक लगाई है।

आयोग ने पार्टियों से चुनाव में सैन्य बलों के नाम का उपयोग करने पर रोक लगाई है।

उन्होने राहुल गांधी के निरंतर राफेल के मुद्दे को उठाने को बेबुनियाद बताया है।

उनका कहना है की वे अपने पिता राजीव गांधी  के पापों को धोना चाहते हैं।

प्रधान मंत्री जी का कहना है न्याय पिछले 60 साल से क्यू नहीं हुआ।

1984 के सिख दंगों को याद करते हुये उन्होने न्याय पर प्रश्न उठाया है।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS