मां दुर्गा की प्रतिमा का विसर्जन करने से पहले जरूर करें इन मंत्रों का जाप

मां दुर्गा की प्रतिमा का विसर्जन करने से पहले जरूर करें इन मंत्रों का जाप

शारदीय नवरात्रि के खत्म होते ही मां दुर्गा की विदाई का समय आ जाता है। बता दें कि विजयादशमी के दिन मां की प्रतिमा का विसर्जन किया जाता है। उससे पहले शारदीय नवरात्रि के प्रारंभ होते ही देवी की प्रतिमा बनाई जाती है और उसे वस्त्र-अलंकारों से सजाया जाता है। नौ दिन तक उसी प्रतिमा की पूर्ण श्रद्धाभाव से पूजा-अर्चना करते हैं और फिर उसी प्रतिमा को जल में विसर्जित कर दिया जाता है। विसर्जन का यह साहस केवल हमारे सनातन धर्म में ही दिखाई देता है क्योंकि सनातन धर्म इस तथ्य से परिचित है कि आकार तो केवल प्रारंभ है और पूर्णता सदैव निराकार होती है। चलिए आगे जानते हैं विदाई से पहले हवन व कुछ मंत्रों के बारे में।

विसर्जन से पहले इन विशेष मंत्रों से हवन करें।
ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुंडायै विच्चे स्वाहा।।


मां शैलपुत्री मंत्र
ऊँ ह्रीं शिवायै नम: स्वाहा।।

मां ब्रह्मचारिणी मंत्र
ऊँ ह्रीं श्री अम्बिकायै नम: स्वाहा

मां चन्द्रघंटा मंत्र
ऊँ ऐं श्रीं शक्तयै नम: स्वाहा।।

मां कूष्मांडा मंत्र
ऊँ ऐं ह्री देव्यै नम: स्वाहा।।

मां स्कंदमाता मंत्र
ऊँ ह्रीं क्लीं स्वमिन्यै नम: स्वाहा।।

मां कात्यायनी मंत्र
ऊँ क्लीं श्री त्रिनेत्रायै नम: स्वाहा।।

मां कालरात्रि मंत्र
ऊँ क्लीं ऐं श्री कालिकायै नम: स्वाहा।।

मां महागौरी मंत्र
ऊँ श्री क्लीं ह्रीं वरदायै नम: स्वाहा।।

मां सिद्धिदात्री मंत्र
ऊँ ह्रीं क्लीं ऐं सिद्धये नम: स्वाहा।।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS