सीएम केजरीवाल ने की पराली जलाए जाने पर मोदी सरकार, पंजाब और हरियाणा से रोक लगाने की मांग

सीएम केजरीवाल ने की पराली जलाए जाने पर मोदी सरकार, पंजाब और हरियाणा से रोक लगाने की मांग

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पड़ोसी राज्यों में पराली जलाए जाने के चलते दिल्ली में वायु प्रदूषण की स्थिति बदतर होने का जिक्र करते हुए पंजाब, हरियाणा और केंद्र सरकार से इस पर रोक लगाने के लिये समय सीमा तय करने की शुक्रवार को मांग की। केजरीवाल ने शुक्रवार को अधिसूचित की गई वाहनों की सम-विषम योजना का ब्यौरा भी साझा किया।

उन्होंने आम आदमी पार्टी सरकार की उपलब्धियों का श्रेय लेने की कोशिश करने, लेकिन पड़ोसी राज्यों में फसल अवशेष जलाए जाने पर चुप्पी साधे रखने को लेकर विपक्षी भाजपा की भी आलोचना की। मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्षी दलों को दिल्ली की जनता को जिम्मेदार ठहराने और उनका उपहास करने से बाज आना चाहिए क्योंकि यहां के लोगों ने प्रदूषण का स्तर घटाने के लिये कड़े कदम उठाये जाने का समर्थन किया है।


केजरीवाल ने 30 सितंबर और 31 अक्टूबर के दो फोटो दिखाते हुए कहा कि दिल्ली में प्रदूषण का स्तर दिन ब दिन बढ़ रहा है। हर कोई देख सकता है कि दिल्ली की हवा कितनी प्रदूषित है। दिल्ली में चार नवंबर से 15 नवंबर तक वाहनों की सम-विषम योजना लागू की जाएगी। दिल्ली सरकार ने इस संबंध में शुक्रवार को अधिसूचना जारी कर दी। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार के विभिन्न विभाग अलग-अलग समय पर सुबह साढ़े नौ और साढ़े 10 बजे खुलेंगे।

उल्लेखनीय है कि इस योजना के तहत एक दिन ऐसे वाहन चलेंगे, जिनकी नम्बर प्लेट पर नम्बरों की आखिरी संख्या सम होगी। जबकि अगले दिन वे वाहन चलेंगे, जिनकी नम्बर प्लेट पर नम्बरों की आखिरी संख्या विषम होगी। यह क्रम आगे भी जारी रहता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सम-विषम योजना लागू रहने की अवधि के दौरान एप आधारित कैब (टैक्सियां) अपना किराया नहीं बढ़ाएंगी। उन्होंने कहा कि सरकार आने वाले एक हफ्ते में शहर में 50 लाख प्रदूषण रोधी ‘मास्क’ बांटेगी। केजरीवाल ने संवाददाताओं से कहा, ”इन सरकारों (पंजाब, हरियाणा और केंद्र) को भी (प्रदूषण पर) अपनी कार्रवाइयों के लिये जवाबदेह होना होगा।” उन्होंने भाजपा के वरिष्ठ नेता विजय गोयल की आलोचना की, जो दिल्ली में वायु प्रदूषण पर रोक लगाने में आप सरकार की नाकामियों के खिलाफ शुक्रवार को एक दिन के अनशन पर बैठे।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS