शिनच्यांग पर अमेरिकी कदम के खिलाफ चीन जरूर जवाबी कदम उठाएगा

शिनच्यांग पर अमेरिकी कदम के खिलाफ चीन जरूर जवाबी कदम उठाएगा

अमेरिकी कांग्रेस के निचले सदन द्वारा मंगलवार को 2019 उइगुर मानवाधिकार नीति बिल पारित करने की चीन ने निंदा की है। चीन का कहना है कि इस विधेयक में मनमाने ढंग से चीन के शिनच्यांग की मानवाधिकार स्थिति की निंदा की गई और चीन द्वारा आतंकवाद विरोधी प्रयास की आलोचना कर चीन की शिनच्यांग प्रशासन नीति पर प्रहार किया। चीन ने कहा है कि यह कार्यवाई गंभीर रूप से अंतर्राष्ट्रीय कानूनों और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के बुनियादी नियमों का उल्लंघन करती है और चीन के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप करती है। चीन इस का जबरदस्त विरोध करता है।

पिछले एक साल में अमेरिका में कुछ लोगों ने शिनच्यांग सवाल पर छूठी दलील पेश की। शिनच्यांग पूरी तरह चीन का अंदरूनी मामला है। शिनच्यांग संबंधी समस्या मानवाधिकार, जातीय और धार्मिक नहीं है, यह हिंसक विरोधी और विभाजन विरोधी समस्या है। 2018 के अंत से अब तक अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के अनेक अधिकारियों, प्रेस मीडिया, धार्मिक संगठनों और विशेषज्ञों ने शिनच्यांग का दौरा किया, जिन की संख्या करीब 1000 है।


चीन ने कहा है कि अल्पसंख्यक जातीय क्षेत्र का आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक विकास की मिसाल होने के नाते शिनच्यांग में विकास उपलब्धियों को नहीं मिटाया जा सकता है। चीन ने अमेरिका से यह अपील की है कि वह तुरंत गलती को ठीक कर उपरोक्त बिल के कानून बनने से रोके, शिनच्यांग के जरिए चीन के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप बंद करे। चीन सरकार और जनता द्वारा देश की प्रभुसत्ता, सुरक्षा और विकास हितों की रक्षा करने का संकल्प दृढ़ है। चीन परिस्थिति के विकास के अनुसार आगे प्रतिक्रिया करेगा।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS