चीन का साथ फिर मसूद अजहर के साथ? घोषित ग्लोबल टेररिस्ट सहयोग को तैयार

चीन का साथ फिर मसूद अजहर के साथ? घोषित ग्लोबल टेररिस्ट सहयोग को तैयार

पुलवामा हमले के गुनहगार आतंकी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के भारत के प्रयासों पर सहयोग करने के लिए चीन तैयार होता दिख रहा है. चीन ने मंगलवार को बीजिंग में कहा कि आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा वैश्विक आतंकी घोषित कराने के जटिल मुद्दे का उचित समाधान निकाला जाएगा. हालांकि ये कबतक संभव हो पाएगा, चीन ने इसकी कोई समय सीमा नहीं बताई.

अहम ये है कि चीन का ये बयान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मुलाकात के बाद आया है. बता दें कि चीन मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र में ग्लोबल आतंकी घोषित करने के भारत के कई प्रयासों पर अड़ंगा लगा चुका है. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ पर हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी जैश ने ली थी. इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. इसके बाद मार्च महीने में मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने की कोशिश पर चीन ने तकनीकी रोक लगा दी थी. संयुक्त राष्ट्र द्वारा मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने का ये चौथा प्रयास था.


भारत इस मामले में लगातार चीन को विश्वास में लेने की कोशिश करता रहा. मंगलवार को चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने बीजिंग में मीडिया ब्रीफिंग में कहा, “मैं केवल इतना कह सकता हूं कि मुझे भरोसा है कि उचित तरीके से इसका समाधान निकलेगा.”  गेंग शुआंग इन खबरों के बारे में पूछे गए सवालों का जवाब दे रहे थे कि क्या चीन ने मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की 1267 अल कायदा प्रतिबंध समिति के तहत सूचीबद्ध करने के फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका के एक और ताजा प्रस्ताव पर तकनीकी रोक हटाने पर सहमति जता दी है.

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS