एंटीसेप्टिक और एंटीमाइक्रोबियल का काम करता है शहद, इन रोगों में है बहुत फायदेमंद

एंटीसेप्टिक और एंटीमाइक्रोबियल का काम करता है शहद, इन रोगों में है बहुत फायदेमंद

शहद एक ऐसी चीज है जो खाने में स्वादिष्ट होने के साथ ही कई रोगों में भी निजात दिलाता है। इस पीले और गाढ़े पदार्थ में कई ऐसे पोषक तत्व होते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। आपको यह जानकार हैरानी होगी कि शहद अकेले ही विटामिन बी, विटामिन बी और विटामिन सी के अलावा कैल्शियम, आयरन और आयोडीन का स्त्रोत है। सिर्फ यही नहीं शहद कार्बोहाइड्रेट का भी प्राकृतिक स्रोत है। शहद में एंटीसेप्टिक, एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल गुण भी होते हैं। जो लोग जिम जाते हैं या एक्स्ट्रा वर्कआउट करते हैं उन्हें अपनी डाइट में शहद को शामिल करने की सलाह दी जाती है। शहद के सेवन से शरीर में शक्ति, स्फूर्ति और ऊर्जा आती है और यह हमें रोगों से लड़ने की शक्ति भी देता है। जिन लोगों का इम्यून सिस्टम काफी कमजोर होता है और जो जल्दी बीमारियों की चपेट में आते हैं उन्हें अपनी रोजाना की डाइट में 1 से 2 चम्मच शहद को सेवन जरूर करना चाहिए। आज हम आपको शहद के कुछ ऐसे लाभ के बारे में बता रहे हैं जिसके बारे में शायद आपने पहले नहीं सुना होगा। 


ये हैं शहद के जबरदस्त लाभ

  • अगर स्किन पर कहीं कुछ नुकसान हुआ है जैसे कहीं जल गया है, खरोंच आ गई है या लाल होकर सूजन आ गई तो शहद का प्रयोग किया जा सकता है। शहद स्किन की सभी बीमारियों से निजात दिलाता है। सिर्फ यही नहीं शहद एक्जिमा, त्वचा की सूजन और अन्य त्वचा विकारों का भी प्रभावशाली तरीके से उपचार करता है।
  • चेहरे के दाग धब्बे और काली छाया को दूर करने के लिए भी शहद को वरदान माना जाता है।शहद में मौजूद एंटीबैक्टीरियल और नमी प्रदान करने वाले गुण दाग-धब्‍बों को दूर कर त्‍वचा में नई जान भर देते हैं। चेहरे की खुश्‍की दूर करने के लिए शहद, मलाई और बेसन का उबटन लगाना चाहिए। इससे चेहरे पर चमक आ जाती है।

  • शहद में एंटीसेप्टिक, एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं। इसलिए यह घावों, कटे और जले हुए स्थानों पर तथा खरोंच पर लगाया जाता है। शहद से उपचार करने के बाद जले के निशान भी हट जाते हैं।
  • वजन कम करने में भी शहद बहुत फायदेमंद है। सबसे अच्छी बात यह है कि इससे किसी तरह का कोई नुकसान भी नहीं होता है। इससे बिना किसी नुकसान के वजन को आसानी से कम किया जा सकता है। यह मेटाबोलिज़्म को बढ़ाता है जिससे शरीर की अतिरिक्त वसा नष्ट हो जाती है। इसके लिए बस आपको सुबह खाली पेट नींबू पानी में शहद मिलाकर सेवन करना हैं।
  • शहद को पानी में मिलाकर कुल्ले करने से मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं। शहद दांत के दर्द को दूर करने में भी मदद करता है। दांत में दर्द होने पर रूई के फाहे को शहद में भिगोकर दर्द वाली जगह पर रखने से कुछ ही देर में दांत दर्द से राहत मिलती है।
  • औषधीय गुणों से भरपूर शहद का उपयोग अनेक बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है। शहद खाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है और मोतियाबिंद जैसी बीमारियों को भी शहद से दूर किया जा सकता है।
  • शहद का इस्‍तेमाल बालों के लिए भी काफी अच्छा होता है। ऑलिव आयल के साथ शहद मिलाकर बालों में लगाने से बाल लंबे, घने और मुलायम हो जाते। यह बालों के झड़ने की समस्‍या को भी काफी हद तक रोकता है।
  • शहद हीमोग्लोबिन बढ़ाने में मदद करता है। इसके नियमित सेवन से रक्त शुद्ध होता है और एनीमिया भी दूर हो जाती है। इसमें विटमिन बी और विटमिन सी के साथ एंटीऑक्सीडेंट तत्व भी पाए जाते हैं, जो हमारी रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढाने में सहायक होते हैं।
  • शहद में एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो ट्यूमर को बनने से रोकते है और कैंसर के जोखिम को कम करने में मदद करता है। नियमित रूप से शहद का सेवन करने से पेट का कैंसर नहीं होता है।
  • दिल के रोगों से भी शहद बचाता है। शहद दिल को मजबूत बनाने के लिए अच्‍छा होता है। दिल को मजबूत करने, हृदय को सुचारू रूप से कार्य करने और हृदय संबंधी रोगों से बचने के लिए प्रतिदिन एक चम्‍मच शहद खाना अच्छा रहता है।

 

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS