9 बार के विधायक और 2 बार की सांसद के बीच है रामपुर की जंग, टिप्पणी करके बुरे फंसे आजम

9 बार के विधायक और 2 बार की सांसद के बीच है रामपुर की जंग, टिप्पणी करके बुरे फंसे आजम

समाजवादी पार्टी (सपा) की पूर्व सांसद और अभिनेत्री जयाप्रदा उत्तर प्रदेश के रामपुर लोकसभा क्षेत्र में अपने प्रतिद्वंद्वी और समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी आजम खान के खिलाफ भाजपा प्रत्याशी के तौर पर चुनाव मैदान में हैं।

चुनाव-प्रचार जोरों पर चल रहा है।


रामपुर में एक चुनावी सभा के दौरान जयाप्रदा पर बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी कर समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान भाजपा नेताओं के निशाने पर आ गए हैं।

उनके बयान की चारों तरफ कटु आलोचना हो रही है।

आजम खान ने जया पर यह टिप्पणी सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की उपस्थिति में की।

हालांकि, आजम खान के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हो गई है।

उनको रामपुर लाए और 2004 में समाजवादी पार्टी के टिकट से रामपुर लोकसभा सीट जीतने में मदद की।

दोनों नेताओं के रिश्तों में खटास उस समय पैदा हो गई, जब जयाप्रदा समाजवादी पार्टी के पूर्व महासचिव अमर सिंह के समर्थन में आ गईं। उसके बाद से आजम के मुखर आलोचक बन गए।

आजम खान और अमर सिंह एक पार्टी में रहते हुए भी एक दूसरे के विरोधी थे।

2009 मैं  आजम खान के समर्थकों ने जयाप्रदा के खिलाफ खुलकर प्रचार किया।

तब से दोनों ने एक-दूसरे की खुलकर आलोचना करते आ रहे हैं।

एक समय जया प्रदा ने आजम खान की तुलना पद्मावत फिल्म के किरदार अलाउद्दीन खिलजी से की थी।

जिसके बदले में आजम खान ने जया को ‘नाचने वाली’ कहा था।

फरवरी 2019 में, जयाप्रदा ने आरोप लगाया कि आजम खान ने उन पर एसिड हमले का प्रयास किया था।

उन्होंने दावा किया था कि उन्हें समाजवादी पार्टी के नेता से कई धमकियां मिली हैं।

वर्षों के दुर्व्यवहार और आरोपों के बाद, दोनों 2019 के लोकसभा चुनावों में एक दूसरे के आमने-सामने हैं।

जहां तक लोकसभा ​​चुनाव में हार-जीत का सवाल है, तो यहां पर लड़ाई कांटे की होने वाली है।

जयाप्रदा रामपुर से दो बार सांसद रह चुकी हैं, तो आजम खान रामपुर से नौ बार विधायक रह चुके हैं और 2017 में उत्तर प्रदेश में भाजपा को मिली एकतरफा जीत में भी अपनी सीट बचाने में कामयाब रहे थे।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS