जापान में दशकों के बाद सबसे विनाशकारी तूफान में 35 लोग मारे गए, भारतीय नौसेना ने दो युद्धपोत भेजे

जापान में दशकों के बाद सबसे विनाशकारी तूफान में 35 लोग मारे गए, भारतीय नौसेना ने दो युद्धपोत भेजे

जापान की राजधानी टोकियो समेत देश के अन्य हिस्सों में भयंकर तूफान ‘हेगीबिस’ से अबतक कम से कम 35 लोग मारे जा चुके हैं और 16 लोग लापता हैं। भारी बारिश के कारण आई बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए रविवार को बड़े पैमाने पर बचाव अभियान शुरू किया गया। शक्तिशाली तूफान हेगीबिस ने दक्षिण-पश्चिम में इजु प्रायद्वीप पर शनिवार शाम सात बजे से दस्तक दी थी। इसी बीच भारतीय नौसेना ने जापान की मदद के लिए दो युद्धपोत भेजे हैं। आईएनएस शहयाद्री और आईएनएस किल्तान भारी बारिश और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में सहायता पहुंचाएंगे।

तूफान के आने के बाद देश के बड़े हिस्से में भारी बारिश हुई, जिससे बाढ़ आ गई और भूस्खलन की कई घटनाएं हुईं। यह तूफान टोकियो को अपनी चपेट में लेने के बाद उत्तर की ओर बढ़ गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, इस आंधी-तूफान में कम से कम 35 लोगों की मौत हुई है। 16 लोग लापता हैं और 100 से अधिक घायल हुए हैं। हेगीबिस से प्रभावित होने वाले लोगों की संख्या बढ़ रही है।


राहत कार्य के लिए 31 हजार सैनिक और एक लाख बचावकर्मी रात भर लगे हुए हैं और फंसे हुए लोगों को हेलीकॉप्टर से सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा रहे हैं। नागानो शहर के आपातकालीन सेवा के एक अधिकारी यासुहिरो यामागुची ने बताया कि रातभर में हमने 427 घरों को खाली कराने और 1,417 लोगों को निकलने के आदेश जारी किए।

उन्होंने बताया कि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि इसमें कितने घर प्रभावित हुए हैं। अधिकारियों ने चेतावनी दी कि भूस्खलन का खतरा अभी भी बना हुआ है। प्रशासन ने 73 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित जगह पर जाने की सलाह दी है।

376,000 घरों की बत्ती हुई गुल

वहीं तूफान से प्रभावित इलाकों में तकरीबन 376,000 घरों की बिजली आपूर्ति नहीं हो पा रही है। तूफान के आने से पहले ही इसके प्रभाव के चलते तेज बारिश हुई। रग्बी विश्व कप के दो मैचों को भी रद्द कर दिया गया है।

तूफान की वजह से जापानी ग्रैंड प्रिक्स में देरी हुई तथा भारी बारिश के कारण 800 से अधिक उड़ानें रद्द कर दी गई हैं और साथ ही रेल यातायात पर भी असर पड़ा। जेएमए के मौसम विभाग के अधिकारी यासूशी काजीवारा ने मीडिया को बताया कि शहरों, कस्बों और गांवों में अभूतपूर्व मूसलाधार बारिश हो रही है, जिसके कारण चेतावनी जारी की गई है।

स्थानीय न्यूज एजेंसी क्योडो के अनुसार, तोशिगी प्रांत के सानो में अकियामा नदी में बाढ़ आने से रिहायशी क्षेत्र जलमग्न हो गए और बचाव दल स्थानीय लोगों को वहां से निकाल रहे हैं।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Linkedin Join us on Linkedin Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS